हरियाणा में नहीं लगेगा लॉकडाउन, किसी को घबराने की जरूरत नहीं – डिप्टी सीएम

गुरुग्राम/रेवाड़ी/चंडीगढ़, 14 अप्रैल। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने स्पष्ट कहा है कि हरियाणा प्रदेश लॉकडाउन की ओर नहीं बढ़ रहा है बल्कि नाइट कर्फ्यू केवल कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए एहतियात के तौर पर लगाया गया है। उन्होंने हरियाणा में काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को विश्वास दिलाया कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जाए जिसमें महामारी और ना फैले उसके लिए एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब मुख्यमंत्रियों से चर्चा की थी, उस समय भी कहा था कि हम लॉकडाउन की ओर नहीं जाएंगे, हमें सिर्फ संक्रमण को कम करना है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नाइट कर्फ्यू इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।  उपमुख्यमंत्री बुधवार को बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी की जयंती के अवसर पर गुरुग्राम आर्टेमिस अस्पताल में जीवन सारथी अभियान के तहत अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित कार्डियक एंबुलेंस को फ्लैग ऑफ करने तथा रेवाड़ी जिले में डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी की 350 किलोग्राम की कांस्य की प्रतिमा का अनावरण करने उपरांत पत्रकारों से रूबरू थे। नाइट कर्फ्यू से संबंधित सवाल के जवाब में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यह लॉकडाउन नहीं है, इसमें आर्थिक गतिविधि को रोकने का काम नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिर्फ नागरिक रात 10 बजे अपने कार्य बंद करके रात्रि 10:30 बजे तक अपने घर पहुंच जाएं, इससे शाम के समय लोगों की मूवमेंट से जो कोरोना संक्रमण की चेन बनती उसमें कट डाउन होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को कम करने और चेन तोड़ने के लिए प्रदेश सरकार की तरफ से प्रयास जारी रहेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि हरियाणा में लॉकडाउन नहीं लगेगा, पड़ोसी राज्यों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केवल नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। डिप्टी सीएम ने यह भी कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए सरकार पूर्ण रूप से तैयार है और इसे देखते हुए लगातार चार दिन चले टीकाकरण उत्सव के साथ प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था को और बेहतर करने का काम किया गया है, ताकि इस चेन को तोड़ा जा सके। 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.