5 दिन, 5 शवों के साथ रही अढ़ाई साल की बच्ची, पड़ोसियों ने दी सूचना, पुलिस ने निकाला बाहर

अलख हरियाणा डॉट कॉम || कर्नाटक || बेंगलुरू में एक ही परिवार के पांच शव घर में मिलने से सनसनी फैल गई। इससे भी बड़ी बात यह रही कि वहाँ से एक अढाई साल की बच्ची भी मिली है जो कि जिन्दा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यह बच्ची शवों के साथ पांच दिन से घर में ही थी । फिलहाल पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं इस बच्ची को अस्पताल में भर्ती करवा दिया है। फिलहाल पुलिस के हाथ किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं लगा है। पुलिस मामला दर्ज कर मामले की जाँच में जुट गई है।


गौरतलब है कि शुक्रवार की रात ब्यादरहल्ली थाना क्षेत्र के एक घर से 5 शवों और एक अढ़ाई साल की बच्ची प्रेक्षा को बाहर निकाला है। बच्ची प्रेक्षा की माँ सिनचना (34), दादी भारती (51), मां की बहन सिंधुरानी (31), मां के भाई मधुसागर (25) के शव छत से लटके मिले। वहीं यह लड़की उस कमरे में मिली जहाँ मधुसागर को फांसी के फंदे पर लटका हुआ पाया गया।

पुलिस की माने तो अभी तक घर से किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालाँकि पुलिस को यह सामूहिक आत्महत्या का मामलं लग रहा है। शवों को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इन्तजार कर रही है। वहीं बच्ची को अस्पताल भेज दिया गया है। डॉक्टर उसकी देखभाल में लगे हैं और उसकी काउंसलिंग के लिए अनुमति मांगी गई है।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (पश्चिम) सौमेंदु मुखर्जी ने बताया है कि – पांचों की मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। उन्होंने कहा, ‘हमें घर से डेथ नोट नहीं मिला है। मधुसागर शंकर सदमे की स्थिति में है। जैसे ही वह फिट होगा, उससे पूछताछ की जाएगी।’

वहीं पड़ोसियों के अनुसार शंकर और उसके बेटे मधुसागर के बीच झगड़ा हुआ था। इसके बाद शंकर घर से बाहर चला गया था।इसके बाद शायद इस घटना को अंजाम दे दिया गया। फरेंसिक विशेषज्ञों के हिसाब से मौतें पांच दिन पहले हुई हैं।

अलख हरियाणा डॉट कॉम की अपील
जिंदगी दोबारा नहीं मिलती यह बड़ी अनमोल है। जीवन में बुरा वक्त भी आता जाता रहता है ऐसे में हौसला और हिम्मत से उसका मुक़बला करें। किसी बात से तनाव हो तो आप एक बार इस हेल्पलाइन नंबरः 08046110007 पर कॉल करें। यकीन मानिये आप बेहतर परिणाम पा पाएंगे

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.