जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार दे रही है 100 प्रतिशत तक अनुदान, करें आवेदन

रोहतक, 19 सितंबर,अलख हरियाणा डॉट कॉम : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा जल संरक्षण को बढ़ाव देने के लिए अनेक योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। उद्यान विभाग के माध्यम से सामुदायिक एवं व्यक्तिगत तालाब पर 70 से 100 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। इसके लिए आवेदक विभाग की वेबसाइट http://hortharyanaschemes.in पर आवेदन करके योजना का लाभ उठाये।

कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि उद्यान विभाग के माध्यम से किसानों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही है। सामुदायिक तालाब व व्यक्तिगत तालाब पर 70 से 100 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है। सामुदायिक तालाब की भराव क्षमता 65.55 लाख लीटर तक होनी चाहिए। ऐसी तालाब पर लगभग 20 लाख रुपये प्रति इकाई अनुमानित खर्च आता है। योजना के तहत सरकार द्वारा 100 प्रतिशत 20 लाख रुपये प्रति ईकाई अनुदान सीमा निर्धारित की गई है। किसान 50 एकड़ तक अनुदान प्राप्त कर सकते है। इसके लिए पात्रता शर्तों में कम से कम 4 किसान या इससे अधिक किसान होने चाहिए।

कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि व्यक्तिगत तालाब पर अनुदान के लिए तालाब की भराव क्षमता 31.50 लाख लीटर होनी चाहिए। ऐसे तालाब पर लगभग 10 लाख रुपये प्रति ईकाई खर्च होता है। सरकार द्वारा योजना के तहत 70 प्रतिशत अनुदान अर्थात 7 लाख रुपये प्रति ईकाई अनुदान सीमा निर्धारित की गई है। किसान ज्यादा से ज्यादा 25 एकड़ तक अनुदान प्राप्त कर सकते है। योजना की पात्रता शर्तों के अनुसार इसके लिए कम से कम एक किसान या इससे अधिक किसान होने चाहिए।
उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि मेरी फसल-मेरा ब्यौरा (Meri Fasal Mera Byora Yojana ) के तहत पंजीकरण अवधि निर्धारित की गई है। प्याज के पंजीकरण के लिए 15 नवम्बर 2021 तथा रबी फसलों के लिए एक अक्तूबर से 15 नवम्बर 2021 तक पंजीकरण करवाया जा सकता है। बागवानी प्रशिक्षण एवं अन्य जानकारी के लिए http://kaushal.hortharyana.gov.in लिंक पर जाये अथवा जिला उद्यान अधिकारी कार्यालय से सम्पर्क करें।

https://fasal.haryana.gov.in/farmer/farmerhome
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.