रैनकपुरा के लोगों ने SP से मिलकर की गलत कार्य करने वाली महिला गिरोह की शिकायत

रोहतक, 20 सितंबर। रैनकपुरा के दर्जनों ग्रामीण आज जिला पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा से मिलकर दो महिलाओं सहित एक युवक पर पुलिस में झूठी शिकायत देकर जातिसूचक गालियां देने व झूठे मुकदमें में फंसाकर जान से मारने की धमकियां देने का आरोप लगाया। जिस पर पुलिस अधीक्षक ने तुरन्त शिकायत दर्ज करवाकर मामले की जांच के लिए शिकायत दर्ज कर ली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार रैनकपुरा निवासी सुहाना पत्नी संजय ने बताया कि वह अनुसूचित जाति से संबंध रखनी है। रेनू उर्फ रीना अपराधी किस्म की औरत है तथा अपने पास अवैध हथियार रखती है। यह एक ब्लैकमेलर है तथा पड़ोस में ही चांद पुत्र शरीफ अंसारी के साथ रहती है तथा उसे अपना पति बताती है। रेनू कई शादियां कर चुकी हे तथा जिनसे यह शादी करती है उनसे पैसे लेकर सरेआम धमकियां देती है। रेनू, चांद, मुकेश के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में मुकदमें दर्ज हैं। 

सुहाना ने बताया कि चांद, मुकेश व रीना उर्फ रेनू के खिलाफ 23-6-2021 को जीआरपी जींद में भादस की धारा 306, 34, 341 व 506 दर्ज है। इस मुकदमें में उपरोक्त दोषियों ने मालवी गांव के एक सरपंच को ब्लैकमेल किया था। बाद में सरपंच ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या कर ली थी। इस मुकदमें में चांद फरार चल रहा है तथा अम्बाला पुलिस रीना को उसके घर से उठाकर ले गई थी। उस समय मैं मौके पर मौजूद थी तथा दोषी रीना ने कहा था कि तेरे घर में चोरी चांद ने ही की थी, मैं तेरा सामान वापिस दिलवा दूंगी मुझे पुलिस से छुड़वा ले।

वहां मुझे पता लगा कि मेरे घर में चोरी चांद व रीना ने मिलकर की थी। जिसका मुकदमा नं. 444 दिनांक 12-07-2021 भादस की धारा 380, 454 थाना शहर में दर्ज है। सुहाना ने बताया कि पुलिस पकड़ से छूटकर आने के बाद रीना ने मुझे अवैध हथियार दिखाकर जातिसूचक गालियां दी तथा कहा कि मुझे पुलिस से पकड़वाती है तुझे मैं जान से मार दूंगी। उसने बताया कि वह अम्बाला पुलिस को ढ़ाई लाख रूपये देकर बाहर आई है। इसके बाद रीना ने सुहाना व तीन अन्य सोनू, दिनेश व सारिका के खिलाफ जिस्मफरोशी करने व मारपीट करने की झूठी शिकायत ब्लैकमेल करने की नीयत से गौकर्ण पुलिस चौंकी में दे दी।

सुहाना ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि यह शिकायत बिल्कुल झूठी व निराधार है ना तो मैं गलत औरत हूं और ना ही वह किसी से कोई गलत काम करवाती हूं तथा उसके खिलाफ कहीं कोई मामला दर्ज नहीं है। जबकि रीना के खिलाफ कई मुकदमें दर्ज हैं तथा वे लोग चोरी, लूटपाट, जिस्म फरोशी करवाना तथा लोगों को ब्लैकमेल करने का काम करते हैं।

ये भोले-भाले आदमियों को अपने जाल में फंसाकर उनसे पैसे ऐंठते हैं तथा ब्लैकमेल करते हैं। सुहाना ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि दोषी मुकेश पुत्र गुरिया के घर के सामने से ही आने-जाने का रास्ता है तथा वे मुझे आते-जाते गालियां व धमकियां देती रहती है। अगर घर में कोई रिश्तेदार आता है तो उसके साथ बदतमीजी करती हैं तथा इनसे उसके बच्चों को जान-माल का खतरा है। इसलिए इन दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए परिवार के जान-माल की रक्षा की जाये। पुलिस अधीक्षक ने सभी की बातों को ध्यान से सुना तथा शिकायत दर्ज करवाते हुए मामले की जांच करने के आदेश दिये।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.