सिंघु बॉर्डर पर तालिबानी तस्वीर निहंगों ने पहले हाथ काटा, गर्दन पर वार किया फिर डेड बॉडी लटका दी

अलख हरियाणा डॉट कॉम ,सोनीपत। किसान आंदोलन स्थल कुंडली में सिंघु बॉर्डर पर गुरुवार रात एक युवक का मर्डर कर दिया है । उसे 100 मीटर तक घसीटा गया, एक हाथ काट दिया और बाद में शव को किसान आंदोलन मंच के सामने लटका दिया गया। बताया जा रहा है कि युवक पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का आरोप है। हालांकि, इसे किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश बताया जा रहा है। युवक की हत्या निहंगों द्वारा करने की जानकारी सामने आई है । पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जाँच शुर कर दी हैं। वहीं किसान सयुक्त मोर्चा की और से इस मामले पर प्रतिक्रिया आई है।

जानकारी के मुताबिक घटना शुक्रवार तड़के 5 बजे की बताई जा रही है। जब वहां संयुक्त किसान मोर्चा के मुख्य मंच के पास एक शव लटका मिला तो हर व्यक्ति सन्न रह गया। शव का एक हाथ कटा हुआ था । पांचों उंगलियों के साथ हथेली को ही अलग कर दिया गया। गर्दन पर भी तेजधार हथियार से हमले के निशान हैं। कुंडली थाना प्रभारी रवि कुमार मौके पर पहुंचे। युवक की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है। पुलिस मामले में ज्यादा जानकारी देने से बच रही है।

वहीँ दूसरी ओर निहंगों का आरोप है कि युवक को साजिश के तहत भेजा गया था। युवक ने पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का अंग भंग किया। युवक को इस काम के लिए 30 हजार रुपए दिए गए थे। निहंगों को इसका पता चला तो उसे पकड़ लिया। उसे घसीटते हुए निहंगों के पंडाल के पास लाया गया। युवक से पूछताछ, समेत पूरी वारदात की वीडियो भी बनाना जा रहा है , लेकिन वीडियो अभी सामने नहीं आई है। यह भी पता चला है कि निहंग शव को उतारने नहीं दे रहे थे। बलदेव सिरसा मौके पर पहुंचे तब पुलिस को डेड बॉडी उतारने दी गई। पुलिस ने ज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है। पुलिस ने कहा है कि इस मामले अफवाहों पर न जाए। हर बिंदु की गहनता से जाँच कर करके किसी नतीजे पर जाया जायेगा। फिलहाल पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

दूसरी ओर संयुक्त किसान मोर्चा के साँझा ब्यान जारी करते हुए कहा है कि संज्ञान में आया है कि आज सुबह सिंधु मोर्चा पर पंजाब के एक व्यक्ति (लखबीर सिंह, पुत्र दर्शन सिंह, गांव चीमा कला, थाना सराय अमानत खान, जिला तरनतारन) का अंग भंग कर उसकी हत्या कर दी गई। इस घटना के लिए घटनास्थल के एक निहंग समूह/ग्रुप ने जिम्मेवारी ले ली है, और यह कहा है कि ऐसा उस व्यक्ति द्वारा सरबलोह ग्रंथ की बेअदबी करने की कोशिश के कारण किया गया। खबर है कि यह मृतक उसी समूह/ग्रुप के साथ पिछले कुछ समय से था।

संयुक्त किसान मोर्चा इस नृशंस हत्या की निंदा करते हुए यह स्पष्ट कर देना चाहता है कि इस घटना के दोनों पक्षों, इस निहंग समूह/ग्रुप या मृतक व्यक्ति, का संयुक्त किसान मोर्चा से कोई संबंध नहीं है। हम किसी भी धार्मिक ग्रंथ या प्रतीक की बेअदबी के खिलाफ हैं, लेकिन इस आधार पर किसी भी व्यक्ति या समूह को कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। हम यह मांग करते हैं कि इस हत्या और बेअदबी के षड़यंत्र के आरोप की जांच कर दोषियों को कानून के मुताबिक सजा दी जाए। संयुक्त किसान मोर्चा किसी भी कानून सम्मत कार्यवाही में पुलिस और प्रशासन का सहयोग करेगा। लोकतांत्रिक और शांतिमय तरीके से चला यह आंदोलन किसी भी हिंसा का विरोध करता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.