बाबा मस्तनाथ मेले के अंतिम दिन लाखों श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब

रोहतक। बाबा मस्तनाथ की स्मृति में मठ परिसर में आयोजित तीन दिवसीय मेले के अंतिम दिन लाखों श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। शुक्रवार सुबह से ही मठ परिसर में बाबा के समाधि स्थल के दर्शनों के लिए भक्तों की लंबी कतार नजर आई। मेले के अंतिम दिन करीब एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे। मेले में मुख्य अतिथि के रुप में कैबिनेट मिनिस्टर अनुराग ठाकुर ने शिरकत की। दूर-दूर से आए नेता व वीआइपी ने मत्था टेक विश्व शांति के लिए दुआ मांगी।


 अनुराग ठाकुर ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल परिवारवाद से घिरे हुए हैं, जिनको चार राज्यों ने सबक सिखाया है। इसी से पता चलता है की मोदी जी की लोकप्रियता कितनी अधिक है। लोगों ने मोदी जी की नीतियों का समर्थन किया है। यह बहुत ही खुशी की बात है की लोग मोदी जी का पूरा समर्थन करते है। उन्होंने कुस्ती दंगल में पहलवानों का हाथ मिलवाकर कुश्ती की शुरुवात करवाई।


श्रद्धालुओं ने मत्था टेकने के बाद जमकर खरीददारी की और झूलो का आनंद लिया। एक लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने लंगर में लड्डू बालूशाही, जलेबी, पूरी और आलू की सब्जी का आनंद लिया। शाम को हुआ दंगल मेले का आकर्षण रहा। मेले के अंतिम दिन रोहतक के विभिन्न बैंड ने नागा साधुओं को नाचने पर मजबूर कर किया और साधुओं ने जमकर नृत्य किया। बाबा मस्तनाथ मठ 8 वीं शताब्दी से राष्ट्र प्रेम आराधना का संदेश देता आ रहा है। इतिहास साक्षी है कि यह मात्र साधना त्रिवेणी का संगम है और विश्व शांति और समृद्धि का अपना विस्तृत इतिहास है। मठ से जुड़े संतो ने स्वतंत्रता संग्राम हो या सामाजिक सरोकार धर्म हो या स्वास्थ्य सेवा का क्षेत्र हर क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित किया है। स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए मठ के ब्रह्मलीन महंत योगी चांद नाथ का विशेष योगदान रहा है।


समाधि स्थल पर मंहत बालकनाथ जी योगी ने श्रद्धालुओं को दिया आर्शीवाद
समाधि स्थल पर सुबह चार बजे से ही श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगनी शुरू हो गई थी। श्रद्धालुओं ने काला कंबल व प्रसाद चढ़ाकर मन्नते मांगी। मंहत बालक नाथ जी योगी सुबह 11 बजे गद्दी पर विराजमान हुए और दोपहर दो बजे तक श्रद्धालुओं को दिव्य दर्शन दिए। शाम के समय मंहत बालक नाथ जी योगी छह बजे गद्दी पर विराजमान हुए और रात नौ बजे तक श्रद्धालुओं को दिव्य दर्शन में आर्शीवाद ‌दिया।

मठ में धूनी रमाए, जटाएं लटकाएं व शरीर पर राख को लगाए बैठे रहने वाले बाबा इस मेले का विशेष आकर्षण होते है। इन तपस्वी बाबाओं को देखने के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ती है। युवाओं से लेकर बुजुर्गों तक नागा साधुओं को देखने के लिए तांता लगा रहा और सभी ने नागा साधुओं से आर्शीवाद लिया।


भोला कासनी ने 1 लाख 11 हजार की कुश्ती जीती
दंगल मैं 1 लाख 51 हजार की 3 कुश्ती करवाई जिसमे दो कुश्ती बराबर रही। तीसरी में भोला कासनी ने 1 लाख 11 हजार की कुश्ती जीती और हारने वाले काला सिसाना को भी 40 हजार का ईनाम दिया गया। उमेश और मोनू के बीच हुई कुश्ती बराबर रही। अजय गुर्जर और तराना के बीच हुई कुश्ती भी बराबर रही। कैबिनेट मिनिस्टर अनुराग ठाकुर ने भोला कासनी को ईनाम देकर सम्मानित किया। अनय सभी खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया गया।


पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, अरविंद शर्मा सांसद रोहतक, सुनीता दुग्गल सांसद सिरसा, राजेश दुग्गल एसपी, नरेंद्र खीचड़ सांसद झुंझुनू,मनीष ग्रोवर पूर्व मंत्री, विवेक राव आर्किटेक्ट गुड़गांव, ईश्वर सिंह यादव पूर्व प्रधान मुंडावर, बीबी बत्रा विधायक रोहतक, वर्तमान जिला पार्षद मुंडावर, बलवान सिंह यादव जिला अध्यक्ष अलवर उत्तर, जयराम जाटव पूर्व एमएलए अलवर ग्रामीण, महेंद्र यादव पूर्व पार्षद अलवर,राजेश दुग्गल एसपी, मेधा भूषण एसपी रोहतक, डॉक्टर दिनेश यादव खैरथल, रमेश खीच कठूमर अलवर, रामनिवास थानेदार बनवाड़ा कलाम, अध्यक्ष बाबा खेतानाथ गौशाला मुंडावर, सुखवंत सिंह भाजपा प्रत्याशी रामगढ़, सीमा त्रिखा विधायक बड़खल फरीदाबाद, सतीश वत्स डायरेक्टर आकाशवाणी रोहतक, रणधीर सिंह कपड़ीवास भाजपा नेता सतीश नांदल सहित अनेक गणमान्य लोगों ने बाबा जी की समाधि पर मत्था टेक आशीर्वाद प्राप्त किया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.