टिड्डी दल अटैक:वक्त रहते सरकार करती प्रबंध तो किसानों को नहीं होता नुकसान- हुड्डा


  alakh haryana
  27 Jun 2020

27 जूनचंडीगढ़: पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा में टिड्डी दल का हमला रोकने में सरकार को पूरी तरह नाकाम बताया है। उनका कहना है कि 6 महीने पहले से जानकारी होने के बावजूद सरकार ने कोई तैयारी नहीं की। अगर वक्त रहते इस हमले से निपटने के लिए कारगर क़दम उठाए जाते तो किसानों को बड़े नुकसान से बचाया जा सकता था। लेकिन, सरकार जानकारी होने के बावजूद हाथ पर हाथ धरे बैठी रही है और आख़िरी वक़्त पर किसानों के खेतों को किसान के भरोसे छोड़ दिया गया। ख़ुद कुछ करने की बजाए सरकार ने किसानों से ही ताली और थाली बजाने की अपील कर दी। पाकिस्तान की तरफ से आए टिड्डी दल ने राजस्थान होते हुए महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, गुड़गांव, मेवात और फरीदाबाद की तरफ काफ़ी नुकसान पहुंचाया। बाजरा, कपास, सौंठ और दूसरी फसलों को तबाह कर दिया।

 नेता प्रतिपक्ष ने मांग उठाई कि सरकार सभी ज़िलों में हुए नुकसान की स्पेशल गिरदावरी करवाए और फौरन किसानों को मुआवज़े का भुगतान करे। भुगतान में किसी तरह की कोताही या लेटलतीफ़ी नहीं बरती जानी चाहिए। क्योंकि इससे पहले भी प्रदेश में कई बार बेमौसी बारिश और ओलावृष्टि से खेती को नुकसान हो चुका है। लेकिन, सरकार ने किसानों को उसका मुआवज़ा आज तक नहीं दिया। कभी कुदरत की बेरुख़ी, कभी टिड्डी का हमला, कभी सरकारी नीतियों की मार तो कभी पेट्रोल-डीजल की महंगाई का बोझ, किसान पर आज चौतरफ़ा नुकसान की मार पड़ रही है। इसलिए ज़रूरी है कि किसानों को सरकार कोई राहत दे। हुड्डा ने कहा कि सरकार किसान के हालात को समझे और उसे लगातार हो रहे नुकसान की बिना कोई देरी के भरपाई करे।



Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
4520