हरियाणा सरकार अब डिफॉल्टर आढ़तियों को राहत देकर नाराजगी करेगी दूर !


  alakh haryana
  01 Apr 2021

हरियाणा में आज से रबी खरीद सीजन (Rabi Purchase Season) शुरू हो गया है।  इसके ठीक एक दिन  पहले हरियाणा सूबे की मनोहर सरकार ने  आढ़तियों (Arhtiyas) को राहत का ऐलान कर दिया है।   दुकानों पर  बकाया राशि (Arrears) और उसपर लगे ब्याज (Interest) पर भारी छूट देकर आढ़तियों को खुश करने की कोशिश की है।  हरियाणा सूबे के मुखिया मनोहर लाल खट्टर ने प्रेसवार्ता कर जानकारी दी कि ‘विवादों का समाधान’ स्कीम ('Resolution of disputes' scheme)  के तहत आढ़तियों को डिफाल्ट राशि (Default amount)  पर ब्याज में 40 फीसदी  की छूट और दंडात्मक ब्याज 100 प्रतिशत )Punitive interest 100 percent)  माफी की गई है।  जिसके बाद आढ़तियों को 370 करोड़ रुपये का फायदा होगा।  



गौरतलब है कि हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड (Haryana State Agricultural Marketing Board) के तहत अनाज और सब्जी मंडियों (Cereals and Vegetable Mandis) के काफी प्लॉटधारक तय वक्त पर क़िस्त जमा नहीं करवा पाए हों। उनको यह छूट दी गई है।  इसके लिए शर्त है कि प्लॉटधारक 15 जून, 2021 बची राशि का भुक्तान कर दे।  याद रहे है कि हाल में  2421 आवंटी डिफॉल्टर की सूचि में शामिल है. जिनको 1131 करोड़ रुपये का भुक्तान करना है।  मनोहर लाल की घोषणा के बाद प्लॉटधारकों को 370 करोड़ रुपये का फायदा मिलेगा।  क्योंकि सरकार ने ब्याज में 40 फीसदी की छूट व  100  प्रतिशत दंडात्मक ब्याज माफी दी है।  

इसके अलावा केंद्र सरकार ने फैसला लिया है कि फसल बिक्री के बाद रकम का भुगतान सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में जायेगा।  अब तक एमएसपी (MSP) का भुगतान किसानों के खाते की जगह आढ़तियों के खातों के माध्यम से जाता था। हरियाणा में बीजेपी की सरकार है इसीलिए ये फैसला यहाँ लागू हो गया है।  इस बार खरीद का भुगतान सारा ऑनलाइन किसान के खाते में होगा। जिसके बाद सरकार से आढ़ती नाराज चल रहे हैं।  अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग (National General Secretary of All India Trade Board Bajrang Garg) की माने तो हरियाणा में  तकरीबन  40 हजार लाइसेंसी आढ़तिया हैं।  जिनको सरकार की नई निति के हिसाब से एमएसपी का 2.5 फीसदी कमीशन भी मिलेगा।  लेकिन वे किसान को जरूरत पड़ने पर एडवांस पैसा (Advance Money) नहीं देंगे। गर्ग ने कहा कि सरकार का ये फैसला  आढ़तियों और किसानों का भाईचारा खत्म करने वाला साबित होगा।

हालांकि हरियाणा की मनोहर सरकार ने आढ़तियों की नाराजगी को दुकानों पर  बकाया राशि (Arrears) और उसपर लगे ब्याज (Interest) पर भारी छूट देकर खत्म करने की कोशिश जरूर की है।  लेकिन सरकार के इस फैसले से आढ़तियों के मन से नाराजगी कितनी खत्म होगी ये तो वक्त ही बताएगा।  

Tags

khattar Rabi Purchase Season


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
3736