मौजूदा सरकार संवैधानिक संस्थाओं पर लगातार हमले कर रही


  alakh haryana
  14 Apr 2021

रोहतक, 14 अप्रैल। राज्य सभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने आज रोहतक में बाबासाहब डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती के अवसर पर आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत की। उन्होंने बाबासाहब डॉ. भीमराव अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्वतंत्रता, समानता व भाईचारे की बुनियाद पर टिके संविधान की मूलआत्मा व आदर्शों पर आगे बढ़कर ही हम भारत को विश्व का नेतृत्व करने के लिये तैयार कर सकते हैं। यही उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर द्वारा प्रदत्त संविधान गरीब और आम आदमी के हितों की रक्षा करता है। उन्होंने न केवल गरीबों के हितों की रक्षा के लिये बेहतरीन संविधान दिया, बल्कि उनको एक मूलमंत्र भी दिया कि ‘शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो।’ 

गांव भालौट में अठगामा डॉ. भीमराव अंबेडकर वेलफेयर सोसायटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा कि बाबासाहब ने हमारे देश को दुनिया का बेहतरीन संविधान दिया, जिसमें आम आदमी को चुनाव लड़ने और वोट डालने का समान अधिकार दिया। उन्होंने अमीर-गरीब, जाति-धर्म, भाषा आदि के भेदभाव के बिना सभी को समान अधिकार दिये। सामाजिक परिवर्तन के वाहक डॉ.अम्बेडकर ने समतामूलक न्यायपूर्ण समाज बनाने के लिए आजीवन संघर्ष किया। उनकी सोच बहुत विशाल और दूरदर्शी थी। वंचितों को मुख्यधारा में लाने के लिए उनका योगदान समाज के हर वर्ग और आने वाली हर पीढ़ी के लिए मिसाल है। मुझे गर्व है कि मेरे दादाजी स्व. रणबीर सिंह हुड्डा ने उनके साथ काम किया। दादाजी भी उसी संविधान सभा के सदस्य थे, जिसमें डॉ. अंबेडकर जी थे। दादाजी उनके व्यक्तित्व की ढेरों खूबियां गिनाते थे। सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने रविदास हॉस्टल आर्य नगर, अंबेडकर भवन नेहरु कॉलोनी सहित कलानौर हलके के गांव गढ़ी बल्लभ में आयोजित डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती कार्यक्रम में भी शिरकत की।
 
दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार डॉ. अंबेडकर द्वारा प्रदत्त संविधान के प्रति कृतज्ञ न होकर संवैधानिक संस्थाओं पर लगातार हमले करती जा रही है। जो ताकतें इस संविधान की मूल भवना को बदलने का प्रयत्न कर रही हैं उन्हें हम संविधान की मूल भावना के साथ जरा सी भी छेड़छाड़ नहीं करने देंगे। हमने ये भी देखा कि इस सरकार में अनुसूचित जाति के अधिकारों को छीनने के भी प्रयास हुए। दीपेन्द्र हुड्डा ने आवाह्न किया कि डॉ. अंबेडकर द्वारा दिये गये संविधान की रक्षा के लिये हमें पहले से भी ज्यादा जागरुक और संगठित होना पड़ेगा।

दीपेंद्र हुड्डा ने बताया कि हरियाणा में हुड्डा सरकार के कार्यकाल के दौरान हरियाणा में पहली बार डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी के नाम पर सोनीपत में विश्वविद्यालय की स्थापना की गयी। डॉ. अंबेडकर मेधावी छात्र योजना के तहत करीब 30 लाख छात्रों को पढ़ाई-लिखाई के लिये विभिन्न योजनाओं के माध्यम से वजीफे का लाभ दिलाया था। लेकिन मौजूदा सरकार ने इस योजना को ही बंद कर दिया। इतना ही नहीं, बाबू जगजीवनराम हॉस्टल योजना को बंद कर दिया गया, जिसके तहत हमने अनेकों कॉलेजों में हॉस्टल बनवाने का काम किया गया था। 


सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने हरियाणा सरकार को समय रहते बाकी प्रदेशों की स्थिति को देखते हुए सबक लेने को चेताते हुए कहा कि कोरोना का नया वेरियेंट बेहद खतरनाक है और काफी तेजी से फैल रहा है। हरियाणा में सरकार ने सिर्फ नाईट कर्फ्यू लगाकर खानापूर्ति कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि सरकार कोई ऐसा वैज्ञानिक तथ्य दिखाए जो ये बताता हो कि कोरोना का वायरस सिर्फ रात को ही संक्रमित करता है। सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि आज की परिस्थितियों में ये महामारी विकराल रूप धारण करती जा रही है। सरकार को 'नाईट कर्फ्यू' जैसी खानापूर्ति करने की बजाय हास्पिटल बेड्स, ICU बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन व दवाईयों का स्टॉक, ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग, कान्टैक्ट ट्रेसिंग जैसे विभिन्न पहलुओं की तरफ गंभीरता से ध्यान देना चाहिए और टीकाकरण में उम्र की पाबंदियों को तुरंत हटाकर हर उम्र के हर व्यक्ति को जल्द से जल्द टीका लगवाना चाहिए। उन्होंने हरियाणावासियों से भी अपील करी कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिये हर कोई पूरी सावधानी बरते और सुरक्षा उपायों पर अमल करे। 
इस दौरान प्रमुख रूप से विधायक बीबी बतरा, विधायक गीता भुक्कल, विधायक शकुंतला खटक समेत स्थानीय गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Tags

ROHTAK HOODA


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
1923