राहत न मिलने पर एसोसिएशन बोर्ड और डीईओ दफ्तर की करेंगे तालाबंदी


  alakh haryana
  12 Apr 2021

हरियाणा शिक्षा विभाग द्वारा पहली से आठवीं की कक्षाओं की 30 अप्रैल तक छुट्टी करने के मुद्दे को लेकर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन हरियाणा का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेशाध्यक्ष राम अवतार शर्मा के नेतृत्व में भिवानी महेन्दरगढ़ सांसद धर्मबीर सिंह, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डॉ जगबीर सिंह व् जिला शिक्षा अधिकारीअजित श्योराण से मिला व अपनी मांगों सम्बन्धी ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में भिवानी से अमित डागर, कर्ण मिरग, संजीव श्योराण, अजय गुप्ता, सुभाष अरोड़ा, पवन मेहता, नरेश अरोड़ा, हरिराम स्वामी, अमित नारु, सुरेंदर राठौर, धन सिंह अग्रवाल, दादरी से सुरेश सांगवान, प्रीतम फोगाट, मुन्ना लाल गुप्ता, संजीव, दीपक और फरीदाबाद से झम्मन लाल शर्मा व् प्रदीप शर्मा शामिल थे।
सांसद धर्मबीर को रामअवतार शर्मा ने स्कूलों की परेशानियों से अवगत करवाते हुए कहा कि अभी तो स्कूल दुबारा से अपने पैरों पर खड़े होने लगे थे और अभी शिक्षा विभाग ने फिर से चोट मार दी। उन्होंने कहा कि अब तो पेरेंट्स और बच्चे भी नहीं चाहते की स्कूल बंद हों। ऐसे में जब सब कुछ खुला है तो सिर्फ स्कूल ही क्यों बंद हो। बच्चों को भी एक साल कोरोना की भेंट चढ़ चूका है और पेरेंट्स नहीं चाहते की उनके बच्चों का एक साल और खराब हो जाये। सरकार को इसे सिर्फ स्कूलों की मांग के तौर पर नहीं देखना चाहिए। स्कूलों को तो वित्तीय नुकसान है ही लेकिन जो नुकसान बच्चों की पढाई का हो रहा है वो इससे कहीं ज्यादा है और ये बात हम नहीं पेरेंट्स कह रहे हैं। उन्होंने सांसद को बताया कि अधिकतर स्कूलों की वित्तीय स्थिति ऐसी है कि यदि ये वर्ष भी स्कूल बंद हुए तो स्कूल बिलकुल खत्म हो जायेंगे। अधिकतर स्कूल संचालक भरी कर्जे में हैं और मानसिक तौर पर बहुत परेशान हैं। साकार ने सभी वर्गों को कुछ न कुछ मदद दी है लेकिन प्राइवेट स्कूलों को किसी प्रकार कि कोई राहत नहीं दी है। सांसद ने डायरेक्टर एजुकेशन से बात कर कुछ समाधान ढूंढने के लिए कहा। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि वे इस बारे में मुख्यमंत्री जी से भी चर्चा करेंगे कि क्या रास्ता निकल सकता है जिससे कोरोना का भी बचाव रहे और स्कूल भी चलते रहे। उन्होंने ओड-इवन का फार्मूला भी सुझाया। मीटिंग में भिवानी भाजपा अध्यक्ष शंकर धूपड़ भी उपस्थित थे।
इसके बाद प्रतिनिधिमंडल हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डॉ जगबीर सिंह से मिला और ज्ञापन सौंपा। रामअवतार शर्मा ने  डॉ जगबीर सिंह को स्कूलों को आ रही दिक्कतों के बारे में अवगत करवाया। ज्ञापन सौंपते हुए रामअवतार शर्मा ने कहा कि यदि सरकार इस निर्णय के सम्बन्ध में प्राइवेट स्कूलों को किसी प्रकार की राहत नहीं देती है तो 20 अप्रैल से शुरू हो रही बोर्ड की परीक्षाओं के सेंटर बनाने के लिए प्राइवेट स्कूल उपलब्ध नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि प्राइवेट स्कूल सरकार के नियमों की पालना पूरे तरीके से करना चाहते हैं। सरकार मानती है कि कोरोना का खतरा सिर्फ आठवीं तक के बच्चों को है। लेकिन हमारे लिए सभी बच्चे बराबर हैं और यदि पहली से आठवीं तक के बच्चों को कोरोना से खतरा है तो उतना ही खतरा नौवीं से बाहरवीं के बच्चों को भी है। इसलिए हम सरकार के समर्थन में अपने स्कूलों की सभी कक्षाओं को बंद रखेंगे। इसी कारण हम बोर्ड परीक्षाएं अपने स्कूलों में करवाने में असमर्थ होंगे। राम अवतार शर्मा ने कहा कि परीक्षा में बोर्ड व बच्चों को किसी प्रकार की दिक्क्त न हो और बोर्ड अन्य परीक्षा सेंटर की वयवस्था समय से कर सकें इसलिए एसोसिएशन ने समय रहते सूचना दे दी है। किस प्रकार की राहत न मिलने पर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के बैनर तले प्रदेशभर से आये हज़ारों प्राइवेट स्कूल संचालक और अध्यापक 19 अप्रैल को हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड का घेराव कर तालाबंदी करेंगे। बोर्ड चेयरमैन ने एसोसिएशन की बात मुख्यमंत्री तक पहुँचाने का आश्वासन दिया।प्रतिनिधिमंडल ने डीईओ भिवानी और डीईओ दादरी को भी पत्र लिखकर सूचित कर दिया है कि सरकार से राहत न मिलने की सूरत में 16 अप्रैल को राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारी, और जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के दफ्तरों की तालाबंदी कर दफ्तर के बाहर हज़ारों स्कूल संचालक अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेंगे। कल एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल शिक्षा मंत्री कँवर पाल गुज्जर से चंडीगढ़ में मिलेगा।

Tags

BHIWANI SCHOOL


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
4037