मनोहर सरकार के एक फैसले के खिलाफ सामने आए आईएएस अधिकारी अशोक खेमका


  Alakh Haryana
  18 Oct 2017

मशहूर आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने एक ऐसा बयान दिया है जो हरियाणा की मनोहर सरकार को बिल्कुल रास नहीं आने वाला है। अशोक खेमका ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री ऑफिस, आवास, मुख्य सचिव और ए.पी.एस.सी.एम., डी.पी.एस. सी.एम. ओ.एस.डी., राजनीतिक सचिव कार्यालय में प्रतिनियुक्ति पर आए 181 के निजी स्टाफ को दीवाली के मौके पर दिए जाने वाले मानदेय पर सवाल उठाया है।

 

अब ये सवाल हरियाणा सरकार को बिल्कुल रास नहीं आने वाले है। खेमका ने कहा कि यह मानदेय देना न सिर्फ अनैतिक हैबल्कि नियमों के भी खिलाफ है। हरियाणा सिविल सर्विस के चैप्टर पांच के रूल 50 का भी उल्लंघन है क्योंकि मानदेय सिर्फ बहुत ही विशेष काम करने पर मिलता है। वह भी मात्र दो से दस हजार रुपए तकवह भी सक्षम अधिकारी द्वारा दिया जा सकता है।

खेमका ने पत्र में लिखा कि मुख्यमंत्री और सी.एस. के कर्मचारियों को एक माह का वेतन मानदेय में देने का काम पिछली सरकार में शुरू हुआजो इस सरकार में भी जारी है। इस निर्णय की समीक्षा की जानी चाहिए।

 

Tags

अशोक खेमका


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
2656