महम सहकारी चीनी मिल में जैगरी प्लांट की स्थापना


  alakh haryana
  07 Apr 2021

रोहतक, 7 अप्रैल : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि आमजन को मिलावट रहित एवं कैमिकल रहित उत्पाद उपलब्ध करवाना सरकार व सहकारिता विभाग का प्रमुख लक्ष्य है। इसी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए महम सहकारी चीनी मिल में जैगरी प्लांट की स्थापना की गई है, जिसमें मसाला गुड़, क्यूब गुड़, पेड़ी गुड़ व शक्कर का उत्पादन किया जा रहा है। 
उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार स्थानीय जिला विकास भवन में मिल के जैगरी प्लांट में बनाये गये उत्पादों के स्टाल का शुभारंभ करने करने के उपरांत उपस्थितगण से बातचीत कर रहे थे। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने स्टाल का प्रथम ग्राहक बनते हुए 5 किलो गुड़ की खरीददारी भी की। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि इन उत्पादों को आमजन तक पहुंचाने के लिए जल्द ही विभिन्न स्थानों पर स्टाल लगाने के लिए जगह चिन्हित की जायेगी। इन उत्पादों को हर गली-हर घर पहुंचाने के लिए सहकारिता विभाग की तरफ से पुरजोर प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि इन उत्पादों की बाजार में पहुंच के साथ ही विशेष तौर पर मिलों को आर्थिक लाभ होगा और इससे चीनी मिलों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि बेशक बाजार में इस तरह के उत्पादों में कम्पीटीशन है, लेकिन कैमीकल रहित, अच्छी व शुद्घ चीज के लिए लोग कोई भी कीमत चुकाने के लिए तैयार रहते है। उन्होंने कहा कि यह सभी उत्पाद अधिकारियों व आमजन की देखरेख में तैयार हो रहे है। इसलिए निश्चित तौर पर इनकी गुणवत्ता बेहतर है। 
उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन का यह प्रयास रहेगा कि चीनी मिल में तैयार गुड़-शक्कर आदि उत्पादों को प्रदेश से बाहर जमना पार आदि क्षेत्रों में भेजा जाये, जिस प्रकार जमना पार से गुड़-शक्कर आदि उत्पाद यहां पर बेचें जा रहे है। उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग का प्रयास रहेगा कि जल्द ही यह सभी शुद्घ उत्पाद ऑनलाइन शॉपिंग कम्पनियों जैसे एमेजौन, फ्लीपकार्ट सहित अन्य ऑनलाइन खाद्ïय उत्पाद सप्लाई करने वाली कम्पनियों के माध्यम से भी आमजन तक पहुंचाये जाये। 
शुगर मिल की प्रबंध निदेशक मेजर गायत्री अहलावत ने कहा कि महम शुगर मिल अब तक 14800 किलोग्राम गुड़ व शक्कर का उत्पादन कर चुका है। मिल द्वारा तैयार 6450 किलोग्राम गुड़ व शक्कर की बिक्री करते हुए अभी तक लगभग 4.50 लाख रुपये से अधिक की राशि मिल ने प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि इसके शुगर मिल द्वारा इस वर्ष लगभग 31.50 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई की जा चुकी है और किसानों को 21 फरवरी 2021 तक 69 करोड़ 36 लाख रुपये की गन्ने की राशि का भुगतान किया जा चुका है। इस अवसर पर शुगर मिल बोर्ड के सदस्यगण व समस्त अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

Tags

MEHAM. ROHTAK


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
4846