ढंग की बात

तेजी से फैलता 'Nipah' वायरस,लक्षण पहचानें और करें तुरंत बचाव

Alakh Haryana         May 22 2018
निपाह वायरस एक तरह का संक्रमित रोग है। मेडिकल टर्म में इसे NiV भी कहा जाता है। यह वायरस एक जानवर से फलों में और फलों के जरिए व्यक्तियों में फैलता है। इस गंभीर संक्रमण की चपेट में आने से इंसान की मौत भी हो सकती है। सबसे ज्यादा चिंता की बात यह है कि अभी तक इस बीमारी का कोई स्टिक इलाज भी नहीं हैं। बचाव के जरिए ही इससे दूर रहा जा सकता है।...

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महान क्रांतिकारी थे राजा नाहर सिंह

राजेश कश्यप         Jan 09 2018
9 जनवरी ऐसे शूरवीर स्वतंत्रता सेनानी का शहीदी दिवस है, जिनकीं शौर्यगाथा पढऩे मात्र से ही देशभक्ति, स्वाभिमान और पराक्रम का सहज अहसास हो उठता है। वे थे बल्लभगढ़ रियासत के राजा नाहर सिंह। राजा नाहर सिंह की वीरता, रणकौशलता और वतनपरस्ती ने अंग्रेजों को हिलाकर रख दिया था। 9 जनवरी, 1857 को अंग्रेजों ने छल से राजा नाहर सिंह को गिरफ्तार किया और सुनियोजित त......

वो जवानी, जवानी नहीं जिसकी कोई कहानी न हो

डॉ सतीस त्यागी         Feb 02 2017
जवानी हमेशा से ही चर्चाओं में रही है। मानव सभ्यता के इतिहास में शायद ही कोई दौर रहा हो जब समाज ने युवाओं पर भरोसा न किया हो। यह स्वाभाविक भी है क्योंकि युवावस्था सर्वाधिक उर्जावान होती है। जो काम जवान आदमी कर सकता है, वह शायद अधेड़ अथवा वृद्ध व्यक्ति न कर सकें। ...

कुलपति पद की प्रतिष्ठा तो जरूर धूमिल हुई है

Dr.Satish Tyagi         Jan 03 2017
कल की खबर है कि महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में आयोजित उत्तर क्षेत्रीय अंतर विश्वविद्यालय महिला कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारम्भ मुख्यमंत्री के निजी सचिव ने किया | एक व्यक्ति के रूप में निजी सचिव का कोई विरोध नहीं हो सकता और न ही उसे अपमानित किया जा सकता है लेकिन निजी सचिव पद को लेकर तो चर्चा होनी ही चाहिए | आखिर ,ऐसी क्या विवशता थी कि इस स्तर के का......

Apani Baat

Dr.Satish Tyagi         Jan 02 2017
लखनऊ आज का "कुरुक्षेत्र" है ,जहाँ सैफई के यदुवंशी आमने -सामने हैं लेकिन इस युद्ध में धृतराष्ट्र (मुलायम सिंह ) संजय से युद्ध क्षेत्र का हाल नहीं सुन रहा है बल्कि खुद वाण -वर्षा कर रहा है | इस महाभारत में जैसा भी है "आज का अर्जुन" अखिलेश है और कृष्ण की भूमिका में चाचा रामगोपाल हैं | दूसरे चाचा शिवपाल दुर्योधन की भूमिका में हैं तो अमर सिंह शकुनि| अर......

अलख का अलख जगाने का नन्हा सा प्रयास

डॉ सतीस त्यागी         Dec 31 2016
अलख हरियाणा औपचारिक रूप से आपके सामने है। एक ऐसे दौर में जब सैकड़ों टीवी चैनल्स हर समय खबरें परोस रहे हों और दर्जनों अखबार आपके ही शहर में दस्तक दे रहे हों , ऐसे में एक और अखबार का क्या औचित्य है, यह सवाल आपके दिमाग में उठना स्वाभाविक है। ...

आज भी है अच्छे नेता !

डॉ सतीस त्यागी         Dec 30 2016
भारतीय राजनीतिक नेताओं की पहली पीड़ी आमतौर पर भले ही बहुत ज्यादा शिक्षित न रही हो लेकिन समझदार और ईमानदार थी। साथ ही शिखर नेतृत्व अधिकांशत: उच्च शिक्षित था और कितने ही बड़े नेता विदेशों से शिक्षा प्राप्त थे। गाँधी, नेहरु, पटेल, बोस जैसे शीर्ष नेता इंग्लैंड में पड़े थे तो जयप्रकाश नारायण ने अमेरिका और डॉ लोहिया ने जर्मनी से पड़ाई की थी।...
  • 1

संबंधित खबरें