exclusive interview-बीजेपी को हटाने के लिए जनता है बेकरार, कांग्रेस हर चुनाव के लिए है तैयार-डाॅ अशोक तंवर


  dr.anuj narwal rohtaki
  23 Nov 2018

निगम चुनाव को 2019 का सेमीफाइनल कहें तो कोई गलत नहीं होंगा। ऐसे में हर पार्टी अपने बेहतरीन प्रदर्शन के लिए कमर कस चुकी है। भाजपा और इनेलो पहले से ही पार्टी प्रतीकों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। ऐसे में कांग्रेस की क्या तैयारियां हैं, आपसी फूट और विपक्ष के गृह कलेश के नफे-नुकसान जैसे कई बिंदुओं पर अलख हरियाणा ने खास बातचीत की हरियाणा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ अशोक तंवर से। बातचीत के अंश-

हरियाणा चुनावी मोढ़ में आ गया है, हाल में निगम चुनाव का ऐलान भी कर दिया गया है? क्या कांग्रेस सिंबल के साथ चुनाव मैदान में उतरेगी ?
इसके उपर विचार चल रहा है। अगले एक-दो दिन में हर स्तर पर, पार्टी के कार्यकर्ताओं से लेकर सीनियर लोगों से फीडबेक लेकर मंथन किया जाएगा कि सिंबल पर चुनाव लड़े या फिर नहीं।
पार्टी चिन्ह पर निगम चुनाव पर आपकी निजी राय क्या है ?
हमारी पार्टी लोकतात्रिंक तरीके में विश्वास रखती है। सबकी सहमति के बाद ही किसी ठोस नतीजे पर पहुंचा जा सकता है। हालांकि मेरी इच्छा है कि पार्टी चिन्ह पर चुनाव करना लेना चाहिए। यह विचार हमारे पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी जी का भी कि पार्टी प्रतीक पर चुनाव लड़ने से स्पष्ट रूप से किसी परिणाम तक पहुंचा जा सकता है। 
हरियाणा के नगर चुनाव को 2019 का सेमीफाइनल कह सकते हैं ?
कहा जा सकता है। क्योंकि हर नगर निगम में दो से तीन विधानसभाओं का एरिया शामिल है। ऐसे में निगम चुनाव के नतीजे 2019 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव की तैयारी में अहम साबित होंगे।
मेयर का पद अहम है लेकिन उसकी पाॅवर को देखे तो यह पद बड़ा कमजोर दिखाई पड़ता है ?
बिल्कुुुल, सही कहा आपने। जिस तरह की शक्तियां मेयर को मिलनी चाहिए थी वो शक्तियां मेयर को नहीं दी गई। कुछ इस तरह का धोखा सरकार ने सरपंचों के साथ भी किया है। लेकिन कांग्रेस की सरकार आने के बाद एक्ट में बदलाव कर ऐसे पदों को ओर शक्तियां मिलें, इसका प्रावधान किया जाएगा।
हरियाणा में जींद विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होने की उम्मीद है ? उसको लेकर कांग्रेस की तैयारी कैसी है ?
दरअसल, मौजूदा सरकार का रवैया चुनाव को आगे टालने का ही रहा है। चाहे वो पंचायती राज के चुनाव हो, गुड़गाव और फरीदाबाद के चुनाव होें और ये निगम के चुनाव होें। सबके सब देरी से करवाएं गए हंै। भाजपा ने बार-बार लोकतंत्र की हत्या करने का काम किया है। जहां तक जींद विधानसभा सीट पर उपचुनाव की बात है तो उस सीट पर ही नहीं बल्कि उससे पहले निगम चुनाव में भी बीजेपी को मुंह खानी पड़ेगी और जनता अपना विश्वास कांग्रेस के हक में जताएंगी। ऐसा हमारा विश्वास है। जींद ही नहीं पूरी लोकसभा और विधानसभा सीटों पर अगर एलान हो जाए तो भी कांग्रेस की तैयारियां पूरी हैं।
गृह कलेश के चलते इनेलो के वोटबैेंक क्या होंगा?
इनेलो के गृह कलेश के बारे में पब्लिक सब समझती है। उसके बारे में ज्यादा कुछ कहने की जरूरत भी नहीं है। जहां तक उनके वोटबैंक की बात हैं तो आप देखेंगे की चुनाव के वक्त तक आहिस्ता-आहिस्ता ज्यादातर लोग कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे।

इनेलो में गृह कलेश बात चल रही है। हालांकि यह सवाल पहले भी कई बार आपसे पूछा जा चुका होंगा लेकिन एक बार फिर पूछ लेते हैं कि गुटबाजी आपकी पार्टी की जगजाहिर है ? इस आप की राय क्या है ?
कोई गुटबाजी नहीं है, गुटबाजी इनेलो में हैं, आने वाले दिनों में भाजपा की जगजाहिर हो जाएगी और इन पार्टियों से लोग छोड़-छोड़ कांग्रेस को ज्वाइन करेंगे। हमारी पार्टी के सभी सीनियर-जुनियर, कार्यकर्ता अपने-अपने स्तर पर पार्टी को मजबूत करने में व्यस्त हैं। जब भी एक मंच पर आने की जरूरत होंगी। हम सभी राहुल गांधी और सोनिया जी के नेतृत्व में एक मंच मिलेंगे।
हाल में केएमपी को लेकर आपकी तात्कालिन कांग्रेस सरकार पर देरी और पैसा बर्बाद करने के आरोप देश के प्रधानमंत्री ने लगाए है ? कितना सच है ?
सच तो यह है केएमपी में तय खर्च से तीन गुणा खर्च करने वाली भाजपा सरकार पर संदेह नहीं बल्कि यकिन है कि किस तरह से  पैसे को इन्होंने बर्बाद किया है, निःस्देह भ्रष्टचार की बू आ रही है। भविष्य में कांग्रेस की सरकार आने पर इसके जांच भी करवाई जाएगी।




Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
0928