रोजर फेडरर ने खिताबी शतक लगाकर रचा इतिहास


  डॉ. रोहित बंसल (खेल जानकार)
  07 Mar 2019

दुनिया के सर्वकालिक महानतम टेनिस खिलाडिय़ों में से एक रोजर फेडरर ने दुबई चैंपियनशिप के फाइनल में ग्रीस के युवा खिलाड़ी स्टीफानोस सिटसिपास को सीधे सेटों में 6-3, 6-4 से परास्त कर प्रोफेशनल करियर का 100वां  एकल खिताब हासिल किया। इससे पहले यह उपलब्धि जिमी कॉनर्स के नाम थी जिन्होंने 109 खिताब जीते थे। अगर एक और अहम विश्व रिकॉर्ड की बात की जाए तो फेडरर 20 ग्रैंड स्लैम खिताब जीतकर पुरुषों में सबसे आगे चल रहे हैं। फेडरर ने 2 जुलाई, 2001 को ग्रास कोर्ट के बादशाह और पूर्व नम्बर एक खिलाड़ी पीट सम्प्रास को विम्बलडन के चौथे राउंड में परास्त कर सनसनी मचा दी थी और उसके बाद कभी पीछे मुडक़र नहीं देखा। उन्होंने 2008 में बीजिंग ओलंपिक खेलों में अपने देश के लिए गोल्ड मैडल जीता। इतने सालों तक टेनिस जगत पर राज करने के बावजूद वो कभी विवादों में नहीं रहे और अपनी मेहनत औरजुझारूपन की बदौलत नए आयाम स्थापित करते गए। टेनिस जगत के विशेषज्ञ फेडरर को एक हरफऩमौला और परिपक्व खिलाड़ी मानते हैं जिनके तरकश में टेनिस का हर शॉट मौजूद है। उनकी यही खूबियां उनको पीट सम्प्रास, जॉन मैकनरो, जिमी कॉनर्स, बोरिस बेकर, राफेल नडाल और नोवाक जोकोविच जैसे महान खिलाडिय़ों से दो कदम आगे रखती है। इसमें कोई संदेह नहीं है की रोजर फेडरर टेनिस जगत के सबसे बड़े सुपरस्टार और युवा खिलाडिय़ों के लिए प्रेरणास्रोत है।


Vidya Softwares

संबंधित खबरें



0 Comments

एक टिप्पणी छोड़ें

 
1437